Ajnabi Shayari in Hindi Font | अजनबी शायरी हिंदी

Published in Category Love Shayari on 14-Dec-2018 04:53 PM

हम न अजनबी है न पराये है,
हम तुम एक रिस्ते के साये है 
जब जी चाहे महसूस कर लीजिये
हम तो तुम्हारी यादो में समाये है,

Ajnabi Shayari in Hindi Font | अजनबी शायरी हिंदी

Ajnabi Shayari in Hindi

कभी जो हम पर जान दिया करती थी
जो कहते थे वो मान लिया करती थी
आज अनजान की तरह मेरे पास से गुज़र गई
जो दूर से कभी पहचान लिया करती थी…

ajnabi shayari in hindi

Best Ajnabi Hindi Shayari

वो आई ज़िन्दगी में एक अजनबी सी,
मैं आशिक उसका बनता गया,
आंसुओ के बादल वो गरजा गई,
और मैं बारिश समझ उसमे झूमता गया !!

best ajnabi shayari

Ajnabi Shayari in Hindi with Image

तुम अजनबी हो पर अपने से लगते हो,
बिना देखे जो पूरा हो जाये वो सपने से लगते हो,
वैसे भी खुदा के तोहफे पर सवाल नहीं करते,
इसलिए तुम हम पर भी यकीन करते हो,

ajnabi shayari image

तुम अजनबी थे तो मुझे अजनबी लगे क्यों नहीं, और अगर मेरे थे तो मुझे मिले क्यों नहीं

ये दिल चाहता है की फिर से अजनबी बन कर देखे, तुम तमन्ना बन जाओ और हम उम्मीद बन कर देखे

एक अजनबी से मुझे इतना प्यार क्यों है, इनकार करने पर भी चाहत कर इकरार क्यों है

आप के लिए अजनबी हो गए है हम, अब तो बातों का सिलसिला भी कम हो गया है

बन के अजनबी मिले थे ज़िन्दगी के सफ़र में, अब इन यादों के लम्हों को मिटायेंगे नहीं

Ajnabi Shayari on Jindagi & Pyar in Hindi

अजनबी बनकर कोई ज़िन्दगी में आया था
ऐसा लगा की वो मेरा ही साया था,
लोग करते है रौशनी घर में,
पर उसने तो मेरे दिल में प्यार का दिया जलाया था

ajnabi shayari

पहले हम अजनबी थे इस शहर में अब इतना कुछ जान चुके है कि अजनबियों से बर्ताव करते है

हम तो अजनबी है खुशियों का व्यापार करते है, कोई वक़्त पर लौटता नहीं, इसलिए घाटे में है

हम क्या है ये हम जानते है, लोग सिर्फ हमें अजनबी समझते है

Share this on: