Manjil par shayari

Published in Category Sad Shayari on 02-Nov-2018 06:36 PM

Manjil bhi unki thi, rasta bhi unka tha,
ek ham akele the, kafila bhi unka tha,
sath chalne ki kasam bhi unki thi,
aur rasta badalne ka faisla bhi unka tha...

Manjil par shayari

मंजिल भी उनकी थी, रास्ता भी उनका था,
एक हम अकेले थे, काफिला भी उनका था,
साथ चलने की कसम भी उनकी थी
और रास्ता बदलने का फैसला भी उनका था

Share this on: