Ulfat ki zanjeer- Shayari

Published in Category Love Shayari on 02-Oct-2018 03:32 PM

Ulfat kee zanjeer se dar lagta hai
kuchh apne takadir se dar lagta hai,
jo kisi ko kii se juda karte hai,
haath ki us lakeer se dar lagta hai.

Ulfat ki zanjeer- Shayari

उल्फत की ज़ंजीर से डर लगता है
कुछ अपनी तकदीर से डर लगता है,
जो किसी को किसी से जुदा करती है,
हाथ की उस लकीर से डर लगता है. 

Share this on: