Ye kaisi judai hai-Hindi Shayari

Published in Category Bewafa Shayari on 13-Nov-2018 06:10 PM

Ye kaisi judai ha jisne hamein shayar bana diya,
ye kaisa gum hai jisne humein bebas bana diya,
socha nahi tha juda ho jayenge humse kabhi
karte bhi kya jab apno ne hi gair bna diya..

Ye kaisi judai hai-Hindi Shayari

ये कैसी जुदाई है जिसने हमें शायर बना दिया,
ये कैसा गम है जिसने हमें बेबस बना दिया,
सोचा नहीं था जुदा हो जायेंगे हमसे कभी
करते भी क्या जब अपनों ने ही गैर बना दिया..

Share this on: